Bolly

प्राण साहब जिनके किरदार को आज भी फैंस भूल नहीं पाए

हिंदी सिनेमा जगत के प्रसिद्ध नामों में प्राण का नाम भला कोई कैसे भूल सकता है। सुपरस्टार प्राण का आज (12 फरवरी) 100 जन्मदिन हैं। दिल्ली के एक समृद्ध परिवार में जन्मे प्राण साहब का निधन 93 साल की उम्र में लंबी बीमारी के लीलावती हॉस्पिटल में हुआ था। एक्टिंग की दम पर उन्होंने अपनी अलग पहचान बनाई। उनके किरदार को फैन्स आज भी भूल नहीं पाए हैं।

प्राण साहब भले ही दिल्ली में जन्मे थे लेकिन उनकी पढाई लाहौर में हुई थे। वहां से उन्होंने फोटोग्राफी का कोर्स किया था। इसके बाद पटकथा लेखक वली मोहम्मद वली ने उन्हें 1940 में बनी पंजाबी फ़िल्म “यमला जट” में काम दिलवाया। इस फ़िल्म में प्राण ने नूरजहां के साथ बतौर हीरो काम किया था।

कहा जाता है कि अमिताभ बच्चन और प्राण के बीच एक ख़ास नाता रहा। प्राण की ही सिफ़ारिश पर प्रकाश मेहरा ने ‘ज़ंजीर’ में अमिताभ बच्चन को मौका दिया। ‘ज़ंजीर’ की कामयाबी ने अमिताभ बच्चन के करियर की दिशा ही बदल दी और फिल्म में प्राण द्वारा निभाया गया ‘शेर ख़ान ‘का चरित्र भी ख़ासा लोकप्रिय साबित हुआ।

प्राण को सह-कलाकार के तौर पर 3 बार श्रेष्ठ अभिनय के लिए फिल्मफेयर अवॉर्ड से नवाजा गया। फिल्में थीं आंसू बन गए मुस्कान, उपकार और बेईमान, मगर साल 1973 में बेईमान फिल्म के लिए उन्होंने अवॉर्ड लेने से इंकार कर दिया था। फिल्म में उन्होंने पुलिस कॉन्सटेबल राम सिंह का रोल प्ले किया था। इस रोल के लिए उन्हें सपोर्टिंग एक्टर के फिल्मफेयर अवॉर्ड से सम्मानित करने का ऐलान किया गया, मगर फिल्म के लिए उन्होंने अवॉर्ड लेने से इंकार कर दिया।

प्राण की मूवीज के बारे में बात करें तो उन्होंने जिद्दी, आजाद, देवदास, राम श्याम, अमर अकबर एंटनी, बॉबी, गद्दार, धरम-वीर, सन्यासी जैसी फिल्मों में काम किया।

Have your say