Bolly

Sonu Sood

सोनू सूद चाहते हैं इस बार कैंसिल हो जाए Board Exam, कहा-कोई और तरीका ढूंढना चाहिए

बॉलीवुड अभिनेता सोनू सूद (Sonu Sood) पिछले बार के लाॅकडाउन के बाद से हमेशा जरूरतमंदों के लिए खड़े रहते हैं। मजदूर उन्हें ‘गरीबों का मसीहा’ तक कहने लगे हैं। जब कोई मुसीबत में होता है और सोनू सूद को याद करता है वे किसी न किसी तरह से उसकी मदद जरूर करते हैं। अब सोनू सूद छात्रहित में भी आगे आए हैं। कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच उन्होंने इस बार के बोर्ड एग्जाम (Board Exam 2021) को कैंसिल करने की मांग की है। उनका कहना है कि छात्र अभी एग्जाम देने के लिए तैयार नहीं हैं।

Advertisement

बता दें कि सोनू सूद (Sonu Sood) ने कोरोना लॉकडाउन (Coronavirus Lockdown) के दौर में पैदल चलकर घर जा रहे लोगों के लिए खाने और बसों का इंतजाम करके जबरदस्त सुर्खियां बटोरी थीं। इसके बाद भी आज तक सोनू अलग-अलग तरीकों से लोगों की मदद करते दिखाई दे जाते हैं। अब वे छात्रों के सपोर्ट में उतर आए हैं। उन्होंने एक वीडियो शेयर कर 2021 की ऑफलाइन बोर्ड परीक्षाएं कैंसिल किए जाने मांग की है। इसके लिए उन्होंने कई उदाहरण भी दिए हैं।

कोरोना वायरस (Coronavirus) के बढ़ते केसेस को देखते हुए सोनू सूद (Sonu Sood) ने ऑफलाइन बोर्ड एग्जाम कैंसिल (Board Exam 2021 Cancel) करने की मांग की है। उनका कहना है कि परीक्षाओं के लिए एक अलग तरीका खोजा जाना चाहिए। इंस्टाग्राम पर जारी किए गए वीडियो में सोनू ने कहा-देश के छात्र बोर्ड परीक्षाओं की तैयारी कर रहे हैं। लेकिन मुझे नहीं लगता कि वो अभी तैयार हैं। उनका कहना है कि एग्जाम का कोई दूसरा उपाय ढूंढना होगा, ताकि छात्रों पर बेवजह का कोई प्रेशर न पड़े।

https://www.instagram.com/tv/CNhXXwpgdqp/?utm_source=ig_web_copy_link

सोनू सूद (Sonu Sood) ने इस वीडियो में बताया कि जब साऊदी में सिर्फ 600 केसेस हुए तो परीक्षाएं कैंसिल कर दी गईं। जब मैक्सिको में 1300 मामले सामने आए तो फौरन परीक्षाएं रद्द की गईं। कुवैत में भी 1500 केसेस मिलने के बाद एग्जाम कैंसिल कर दिए गए थे। भारत में 1.45 लाख केसेस सामने आए हैं, फिर भी हम परीक्षाएं करवाने के बारे में सोच रहे हैं, ये गलत है। सोनू सूद ने सरकार से मांग की है कि एक बार इस मामले पर विचार करना चाहिए और जो भी छात्रहित में फैसला हो, वही लिया जाना चाहिए।

अभिनेता सोनू सूद (Actor Sonu Sood) का कहना है कि हमें फिलहाल कोई वैकल्पिक तरीका खोजा जाना चाहिए, जैसे इंटरनल एसेसमेंट, ऐसे हालातों में छात्रों को सपोर्ट करना बहुत जरूरी है। जब देश में कई लॉकडाउन लग रहे हैं, उस वक्त बच्चों का ऑफलाइन एग्जान (CBSE Board Exam 2021) करवाना गलत है। उन्होंने कहा- मैं हर छात्र के सपोर्ट में खड़ा हूं जो अभी ऑफ लाइन परीक्षाओं के लिए तैयार नहीं हैं। अब देखना है कि सरकार इसे कैसे लेती है। बोर्ड एग्जाम की डेट भी नजदीक आ चुकी है और केसे लगातार बढते जा रहे हैं। आज ही पिछले 24 घंटे में देशभर में एक लाख 70 हजार मामले दर्ज किए गए हैं।

Have your say